5.3.11

ब्लाग-जगत के यश चौपडा

                 श्री राजीव कुमार कुलश्रेष्ठ

           
            मार्च 2010 से ब्लाग-जगत में सक्रिय श्री राजीव कुमारजी कुलश्रेष्ठ ने चिट्ठा-जगत के बन्द होने के बाद समस्त ब्लागर्स के समक्ष उपजी एग्रीगेटर की कमी की पूर्ति हेतु एक प्रयास स्वयं की ओर से करते हुए निहायत ही खामोशी से BLOG WORLD.COM की शुरुआत कर न सिर्फ अधिक से अधिक ब्लाग-पोस्ट की जानकारी अपने इस एग्रीगेटर पर नियमित रुप से देने का महत्वपूर्ण कार्य प्रारम्भ किया बल्कि अपने इसी एग्रीगेटर पर प्रतिदिन इस ब्लाग जगत को एक विशेष ब्लागर से मिलवाने का एक और उपयोगी व निर्बाध ऐसा सिलसिला भी चालू किया जो शायद इस ब्लाग माध्यम से ब्लाग मित्रों में एक दूसरों को जानने समझने की दिशा में एक महत्वपूर्ण प्रयास के रुप में अपना स्थान बनाता जा रहा है ।

         उनके इस नेक प्रयास में सर्वाधिक उल्लेखनीय बात मुझे यह लगी कि आपके द्वारा अब तक जिन ब्लागर्स साथियों के परिचय इस कालम में प्रकाशित किये गये उनमें 60% से भी अधिक वे ब्लागर्स दिख रहे हैं जिनका इस क्षेत्र में पदार्पण बिल्कुल नया ही गिना जा सकता है । इनके द्वारा प्रस्तुत अभी तक के वे ब्लागर्स जिनका परिचय इस श्रृंखला में श्री राजीवजी ने प्रस्तुत किया है उस पर एक सर्वेक्षणात्मक नजर-

  
       ब्लागर्स                     ब्लाग जगत में सक्रियता              मुख्य ब्लाग
  1. डा. दिव्या श्रीवास्तव                  जून 2010                 ZEAL  (झील).
   2. सुश्री दर्शनकौर धनौए            अक्टूबर 2010               मेरे अरमान मेरे सपने.
   3. सुश्री रश्मि प्रभा                       मई 2007               नज्मों की सौगात.
   4. सुश्री रजनी मल्होत्रा               नवम्बर 2009              रजनी मल्होत्रा नैयर.
   5. सुश्री अलका सर्वत मिश्रा          फरवरी 2009               मेरा समस्त.
   6. सुश्री संगीता स्वरुप (गीत)           मार्च 2007              गीत मेरी अनुभुतियां.
   7. डा. रुपचंद्र शास्त्री (मयंक)         जनवरी 2009              उच्चारण.
   8. श्री समीरलाल 'समीर'                 मार्च 2006             उडन तश्तरी.
   9. श्री ललित शर्मा                     जनवरी 2009             ललित डाट काम.
  10. श्री केवलराम                        अप्रेल 2010              चलते चलते.
  11. श्री कैलाश सी. शर्मा                जुलाई 2010               Kashish my poetry.
  12. सुश्री फौजिया रियाज             अक्टूबर 2008              अल्फाज
  13. श्री इन्द्रनील                        फरवरी 2010              जज्बात, जिन्दगी और मैं.
  14.  श्री रविशंकर श्रीवास्तव               जून 2004              रचनाकार.
  15.  सुशील बाकलीवाल               अक्टूबर 2010              नजरिया.
  16.  डा. नूतन डिमरी                 सितम्बर 2010             अमृत रस.
  17.  श्री सुरेश शर्मा कार्टूनिष्ट          सितम्बर 2009            कार्टून धमाका.
  18.  श्री मनोज कुमार                 सितम्बर 2009            मनोज
  19.  सुश्री वन्दना गुप्ता                      मई 2007            जिन्दगी एक खामोश सफर
  20.  श्री जी. एन. शा                      मार्च 2010            बालाजी
  21.  सुश्री मृदुला प्रधान                  जुलाई 2009            Mridula's Blog.
  22.  श्री सत्यम शिवम                  अगस्त 2010            काव्य-कल्पना.

          अब यदि इस सूचि का विश्लेषण करने का प्रयास किया जावे तो इस परिचय श्रृंखला में  श्री रविशंकरजी श्रीवास्तव,  श्री समीरलालजी 'समीर',  सुश्री संगीता स्वरुप (गीत),  सुश्री रश्मि प्रभा,  और  सुश्री वन्दना गुप्ता ये पांच नाम ही ऐसे दिखते हैं जिन्हें इस ब्लाग-जगत में अनुभवी सीनियर्स के रुप में देखा जा सकता है । दूसरे क्रम में  डा. श्री रुपचंद्रजी शास्त्री (मयंक),  श्री ललितजी शर्मा,  सुश्री अलका सर्वत मिश्रा,  सुश्री मृदुला प्रधान,  और  श्री मनोज कुमार  ये पांच नाम जो इस ब्लाग जगत में 2009 में शामिल हुए और जिन्हें अब किसी परिचय की आवश्यकता नहीं दिखती । लेकिन उपरोक्त 22 में से ये 10 नाम हटाकर यदि देखा जावे तो शेष 12 नाम ऐसे ही ब्लागर्स के देखने में आवेंगे जिन्हें या तो 2010 के वर्ष में शामिल होने के कारण पर्याप्त नये ब्लागर्स की श्रेणी में रखा जा सकता है या फिर जो सन् 2008-2009 में शामिल होने के बाद भी नियमित सक्रियता की कमी के कारण जिनकी चर्चा प्रायः देखने में  नहीं आ पाती है ।

          निश्चय ही हजारों की भीड में इन 12 ब्लागर्स में सामान्य से अलग काबिलियत रही है जिसके कारण इनके भी चर्चा में आने का सिलसिला बनने लगा, किन्तु फिर भी प्रायः ऐसी परिचयमाला में स्वयं की लोकप्रियता को प्राथमिक तवज्जो देते रहने के कारण देखने में यही आता रहता है कि पर्याप्त अनुभवी व सुस्थापित ब्लागर्स (जिनकी इस ब्लाग-जगत में कमी नहीं है) के परिचय को ही प्रथम क्रम में स्थान देते रहने का प्रयास परिचयकर्ता द्वारा किया जाता है । श्री राजीवजी इस मिथक से अलग चलते हुए जहाँ भी इन्हें किसी नये-पुराने ब्लागर्स में जो भी अतिरिक्त विशेषता दिख रही होती है उसे सीनियर-जूनियर या नये-पुराने के भेदभाव से हटकर स्थान देने के नेक कार्य में लगे हुए हैं ।

          हिन्दी फिल्मोध्योग में एक स्थापित निर्देशक के रुप में श्री यश चोपडा ने जो मुकाम हासिल किया वो प्रतिभाशाली कलाकारों के नये-पुराने के भेद से हटकर, बल्कि उगते सूरज को पहचानने की शैली में नये कलाकारों को पहली प्राथमिकता देकर ही हासिल किया है और मेरी समझ में श्री राजीव कुमार कुलश्रेष्ठजी भी निहायत ही खामोशी से अपने इसी प्रतिभा खोजी अभियान में व्यस्त रहते हुए अधिकांश नये ब्लागर्स को लाईम लाईट में लाने के इस पुनीत कार्य में लगे हुए हैं । अतः मैं उम्मीद करता हूँ कि श्री राजीव कुमारजी अपने इन्हीं प्रयासों के चलते हिन्दी ब्लाग जगत में नये व पुराने सभी ब्लागर्स साथियों के लिये आने वाले समय में अनेकों छोटी-बडी, ज्ञात-अज्ञात समस्याओं के निवारण में उपयोगी भूमिका निर्वाह करते रहेंगे ।

            विशेष निवेदन- उपर प्रस्तुत इस परिचयमाला के इन 22 ब्लागर्स साथियों में अक्टूबर 2010 में शामिल होने वाला सबसे जूनियर नाम मेरे अलावा सुश्री दर्शनकौरजी धनौए का ही दिख रहा है । अतः यदि किसी भी ब्लागर साथी से सम्बन्धित नाम, जाईनिंग अवधि अथवा ब्लाग के नाम में कहीं कोई गल्ति रह गई हो तो अग्रिम क्षमा चाहते हुए उसे सुधार लेने की कोशिश कर सकता हूँ । शेष श्री राजीव कुमार कुलश्रेष्ठजी के साथ ही सभी पाठक मित्रों के प्रति हार्दिक शुभकामनाओं के साथ...

24 टिप्पणियाँ:

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

बड़ा सुन्दर प्रयास।

Udan Tashtari ने कहा…

सार्थक प्रयास...

Er. सत्यम शिवम ने कहा…

बहुत ही सुंदर प्रयास.....सराहनीय।

सतीश सक्सेना ने कहा…

बढ़िया प्रयास ...परिचय करवाने के लिए आपका आभार !!

AREEBA ने कहा…

बहुत ही सुंदर प्रयास.....सराहनीय।

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

सार्थक प्रयास ...ऐसा तो कभी सोचा ही नहीं ..

खुशदीप सहगल ने कहा…

राजीव जी की ब्लॉग-साधना अनुपम है...

लेकिन मुझे ये गाना क्यों याद आ रहा है...

जो न छोटे हैं, न बड़े,
बड़ी मुश्किल में वो पड़े,
उनकी मुश्किलों का हिसाब नहीं,
उनके लिए वक्त किसी के पास नहीं...

जय हिंद...

Patali-The-Village ने कहा…

बड़ा सुन्दर प्रयास।

RAJEEV KUMAR KULSHRESTHA ने कहा…

स्नेही सुशील जी । वैसे मुझे इस पोस्ट पर स्वयँ टिप्पणी करने
में बेहद संकोच सा हो रहा था । अतः आपके इस प्यार का शुक्रिया मैं
ई मेल पर करता ।.. पर श्री खुशदीप जी की बात ने विवश कर दिया ।
..भाई खुशदीप सहगल जी मैं आपका आशय समझ गया । लेकिन ?
आप मेरी भी विवशता समझिये । ब्लाग वर्ल्ड. काम । 3 फ़रवरी
को आरम्भ हुआ । 6 फ़रवरी को दूसरी पोस्ट । इसके बाद 11 फ़रबरी
से आज तक प्रतिदिन 1 परिचय पोस्ट देने की कोशिश कर रहा हूँ । और सबको साथ लेकर चलने की कोशिश है । आप ब्लाग जगत के जाने माने हस्ताक्षर हैं । और मुझे आपकी याद भी है । और मेरे पास वक्त भी है । पर नये । अचर्चित । कम चर्चित लोगों को प्रोत्साहन की अधिक आवश्यकता है । आशा है । आप मेरी भावना को समझते हुये क्षमा करेंगे । और कुछ दिन की मोहलत देगें ।

सुशील बाकलीवाल ने कहा…

श्री खुशदीपजी सहगल सा.
रात्रि में ही आपकी कमेंट्स पढ कर लगभग हंसते-मुस्कराते हुए ही सोया था । क्या जवाब देता जब कुछ था ही नहीं । अब जब श्री राजीवजी ने स्वयं ही जवाब दे दिया है तो मेरी जिम्मेदारी तो वैसे ही पूर्ण हो गई ।

: केवल राम : ने कहा…

राजीव जी के प्रयास सराहनीय है ....आप इनके ब्लॉगर्स प्रोब्लम वाले ब्लॉग की चर्चा भी करते तो ज्यादा उचित रहता ....आध्यात्म की दिशा में भी इनका ब्लॉग बहुत महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर रहा है ....आपने भी एक विश्लेषण कर राजीव जी के प्रयास को चिरंजीव बना दिया ...आपका आभार

सुशील बाकलीवाल ने कहा…

भाई श्री केवलरामजी,
आप यकीन नहीं करेंगे लेकिन ब्लागर्स प्राब्लम वाला सारा मैटर मुझे लिखकर भी इसलिये वापस हटाना पडा कि पोस्ट बहुत लम्बी हो रही थी और मेरा ये स्पष्ट मानना है कि लम्बी पोस्ट पाठकों में पढने की रुचि प्रायः खो देती है ।

Sawai Singh Rajpurohit ने कहा…

बहुत ही सुंदर प्रयास

mahendra verma ने कहा…

अच्छा प्रयास है। राजीव कुमार जी इस के लिए बधाई के पात्र हैं।
इस प्रस्तुति के लिए आपको भी धन्यवाद।

अविनाश वाचस्पति ने कहा…

मैं तो लंबी पोस्‍ट ही पढूंगा।

सुशील बाकलीवाल ने कहा…

* श्री अविनाश वाचस्पतिजी

स्वागत आपका...

आपकी चाहत को ध्यान में रखते हुए बैठता हूँ अगली बार दूध-जलेबी सामने रखकर, कोई लम्बी सी पोस्ट लिखने के लिये.

तब तक तो... इन्तजार और अभी, और अभी, और अभी.

दिगम्बर नासवा ने कहा…

राजीव जी का सराहनीय प्रयास ... कभी कभी पूरी जानकारी लेखक की जानना अछा लगता है ...

ZEAL ने कहा…

.

सुशील जी ,

आपने बहुत बहुत बारीकी से राजीव जी के प्रयासों को देखा । निसंदेह राजीव जी के प्रयास सराहनीय हैं । उन्होंने अपने ब्लॉग पर मेरे जैसे नवोदित ब्लोगर का परिचय दिया , ये उनका बडप्पन है ।


.

सोमेश सक्सेना ने कहा…

सचमुच सार्थक प्रयास। बधाई आपको और राजीव जी को।

एस.एम.मासूम ने कहा…

जो न छोटे हैं, न बड़े,
बड़ी मुश्किल में वो पड़े,
उनकी मुश्किलों का हिसाब नहीं,
उनके लिए वक्त किसी के पास नहीं...
.
भाई हम भी लाइन मैं खड़े हैं
देखें कब हम जैसों पे नज़र पड़े है ?

Manpreet Kaur ने कहा…

bouth he aacha blog hai aapka .... thz

Visit plz my all sweet friends...
Download Latest Music
Latest Lyrics

rashmi ravija ने कहा…

सुन्दर प्रयास

दर्शन कौर धनोए ने कहा…

सबसे आखिर में लिख रही हु-- किस मुह से राजीव जी का और आपका शुक्रिया अदा करू --मुझे ज्यादा कम्प्यूटर का ज्ञान भी नही है --लिखने का शोक जरुर था -हल्का -फुल्का लिख लेती हु -- मुझ जेसे नए ब्लोगर्स को अपने ब्लाक में इज्जत देने के साथ -साथ अपना मित्र भी बनाना राजीव जी की कला का एक हिस्सा हे--राजीव जी सचमुच ब्लोक-जगत के यश चोपड़ा है --बधाई |

madansharma ने कहा…

सचमुच सार्थक प्रयास। बधाई आपको

एक टिप्पणी भेजें

आपकी अमूल्य प्रतिक्रियाओं के लिये धन्यवाद...

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...