18.2.11

नये ब्लाग लेखकों के लिये उपयोगी सुझाव.

 


           एक अनुमान के मुताबिक इस समय औसतन 20 के लगभग नये ब्लाग्स प्रतिदिन हिन्दी ब्लाग जगत में नियमित रुप से शामिल हो रहे हैं । इनमें कई ब्लाग-लेखक बेहतरीन शैली में अपनी सोच को अपने लेखन के द्वारा अभिव्यक्त करने में पूर्ण सक्षम भी दिखते हैं लेकिन अधिकांशतः इन नये ब्लाग्स की जानकारियां आगे नहीं आ पाने के कारण दो-चार पोस्ट के बाद ये ब्लाग संभवतः गुमनामी के अंधकार में खो भी जाते हैं । ऐसा शायद इसलिये होता हो कि या तो ये ब्लागर्स ब्लाग बनाने और पोस्ट लिख लेने के बाद यह सोचकर बैठ जाते हैं कि पाठक स्वमेव आते रहेंगे और हमारे लिखे को पढकर सराहना करते रहेंगे या फिर वे समझ ही नहीं पाते हैं कि इसके आगे क्या कैसे किया जाना चाहिये ? यदि आप भी इस ब्लाग-जगत में नये हैं तो अपनी असमंजस की इस स्थिति को इस आलेख अब इसके बाद क्या ? ...और कैसे ? पर क्लिक करके समझने का प्रयास कर सकते हैं । मेरी समझ में नये की परिभाषा में वे ब्लाग्स तो आते ही हैं जो अभी महिने, बीस दिन या दो-चार दिन पहले ही बने हैं किन्तु वे ब्लाग्स भी आते हैं जो भले ही वर्ष भर से चल रहे हों किन्तु अभी तक उन पर पाठक हिट्स संख्या 1,000 तक या उनके फालोअर्स की संख्या 12-15 तक भी नहीं पहुंच सकी हो । यदि आप अपने ब्लाग के साथ इन दोनों में से किसी भी स्थिति में यहाँ हैं तो आगे की यात्रा को सहजतापूर्वक जारी रखने के लिये इन सुझावों पर अमल करके देखिये-

1. अपने ब्लाग को विभिन्न एग्रीगेटर्स में शामिल करवाएं-
         एग्रीगेटर ही वो माध्यम हैं जहाँ हर ब्लाग लेखक अपनी ब्लाग-पोस्ट की प्रोग्रेस देखते रहने के साथ ही दूसरों के ब्लाग्स में इस समय नया क्या पढने के लिये उपलब्ध है ये जानने के लिये प्रायः बार-बार आते रहते हैं । यदि वहाँ आपका ब्लाग भी दर्ज रहेगा तो न सिर्फ वो स्वमेव ही अन्य पाठकों की जानकारी में आता रहेगा बल्कि वहाँ आपको भी विभिन्न विषयों (यथा- राजनीतिक, सामाजिक, भौगोलिक, विज्ञान, स्वास्थ्य, हास्य-व्यंग और अन्य अनेकानेक विधाओं पर उपलब्ध आलेख, कविताएं, कहानियां) ऐसे सभी तरह के ब्लागपोस्टों के बारे में ताजातरीन जानकारियां मिलती रहेंगी व लोकप्रिय ब्लाग्स लोकप्रिय क्यों हैं इन कारणों को भी आप वहाँ नोट करते हुए व उनका अनुसरण करते हुए अपने ब्लाग को भी लोकप्रियता की दौड में आगे बनाये रखने का प्रयास आसानी से कर सकेंगे । ब्लागलेखन की इस दुनिया में हजारों हजार लोग अपने इस जुडाव के साथ क्या-क्या लाभ देखते हैं इसका रोचक वर्णन आप इस पूर्व पोस्ट ब्लागिंग तेरे लाभ अनेक...!  को माउस क्लिक करके पढकर समझ सकते हैं । मैं यहाँ कुछ लोकप्रिय हिन्दी ब्लाग एग्रीगेटर्स की लिंक प्रस्तुत कर रहा हूँ है आप सिर्फ माउस क्लिकिंग के द्वारा यहाँ तक आसानी से पहुँच सकते हैं और अपने ब्लाग को यहाँ पंजीकृत (रजिस्टर्ड) करवा सकते हैं । इनमें प्रमुख हैं-  हमारीवाणी,  अपना ब्लाग,  ब्लागप्रहरी,  ब्लाग परिवार,  ब्लागकूट,  हिंदी इंडली इत्यादि ।  इसके अलावा यदि आपके लिये संभव हो सके तो अपने ब्लाग को गूगल व इस जैसे सर्च इंजन में भी अवश्य दर्ज करवाएँ । 

2. अपनी रुचि के ब्लाग्स को फालो अवश्य करें-
         जब आप किसी ब्लाग को फालो करते हैं तो आपको उससे दो तात्कालिक लाभ मिलते हैं. 1. जिस ब्लाग को आपने फालो किया है संभवतः वह ब्लागलेखक भी सौजन्यता व शिष्टाचार के नाते आपके ब्लाग को फालो कर लें (यद्यपि ऐसा हमेशा नहीं होता)   और   2. जिस भी ब्लाग को आपने फालो किया है उस पर कोई भी नई पोस्ट प्रसारित होते ही आपको अपने डेशबोर्ड पर तत्काल उसकी जानकारी मिल जाती है कि मेरे पसंदीदा ब्लाग में इस समय नया क्या छपा है ?  यह याद रखें कि इस क्षेत्र में आगे आने के लिये आप अपनी पसन्द के ब्लाग्स को फालो करने में पीछे न रहें क्योंकि न सिर्फ इसमें आपका कोई खर्चा नहीं होता बल्कि आपका फोटो निरन्तर उस लोकप्रिय ब्लाग पर दिखते रहने के कारण अन्य अनेक हिन्दीभाषी ब्लाग लेखक व पाठक आपको भी आसानी से पहचानने लगते हैं, जिसका लाभ आपको आगे तक मिलता रहता है । एक और महत्वपूर्ण बात- जब भी आप किसी ब्लाग को फालो करें तो सिर्फ फालो करके ही न आ जावें बल्कि अनिवार्य रुप से एक टिप्पणी (चाहे वह 'राम-राम' ही क्यों न हो) अवश्य लिखकर आवें क्योंकि सिर्फ फालोअर्स लिस्ट के फोटो से वह ब्लागलेखक यदि चाहें तो भी आपके ब्लाग तक नहीं पहुँच पावेंगे लेकिन फालोअर्स लिस्ट के साथ ही आपकी टिप्पणी के आधार पर वो तत्काल आपके ब्लाग पर पहुँच जावेंगे और यदि वे चाहेंगे तो आपके  ब्लाग को आसानी से फालो भी कर लेंगे ।

3.  अधिक से अधिक ब्लाग लेखों पर अपनी टिप्पणियां दें-
          ब्लाग-जगत में सफलता का बहुत-बडा मापदंड ये देखने में आता है कि आपके ब्लाग पोस्ट पर कितनी टिप्पणियां आ रही हैं और यही कारण है कि अक्सर लोग अपने ब्लाग पर टिप्पणी देने वाले ब्लागलेखक को उसके ब्लाग पर भी टिप्पणी देते रहने की आवश्यक औपचारिकता की पूर्ति करते दिखाई देते हैं । लोकप्रियता की इस दौड में टिप्पणियों के महत्व को समझने के लिये आप  टिप्पणियों की अनिवार्यता और माडरेशन का नकाब ? लेख पर माउस क्लिक करके एक नजर अवश्य डालें । अब यदि आप अधिक से अधिक ब्लाग-पोस्ट पर टिप्पणी देने जाते हैं तो स्वाभाविक रुप से आपके ब्लाग पर भी टिप्पणियों का क्रम धीरे-धीरे बढना चालू हो जाता है और आप व आपका ब्लाग इस माध्यम से ब्लागजगत में परिचित होते हुए अपना स्थान सुरक्षित रखने में कामयाब होते चले जाते हैं । इसलिये अधिक से अधिक ब्लाग्स पर आप न सिर्फ अपनी टिप्पणी दें बल्कि प्रारम्भ में उस टिप्पणी के साथ अपने ब्लाग की URL Link देते हुए सम्बन्धित ब्लागर्स को अपने ब्लाग पर टिप्पणी देने के लिये आमंत्रित भी करते रहैं ।

4.  रोचक व पठनीय शैली में अपनी पोस्ट प्रकाशित करें-
           अपने मनपसन्द विषय पर मौलिक शैली में एक नियमित अंतराल पर अपने ब्लाग पर पोस्ट के प्रकाशन का सिलसिला बनाये रखें । जितनी सुनियोजित आपके ब्लाग पर पोस्ट की निरन्तरता बनी रहेगी,  उतना ही व्यवस्थित तरीके से आपके पाठकों का आपके ब्लाग से जुडाव  बना रह सकेगा । अपनी ब्लाग पोस्ट लिखने के लिये उपयोगी सुझाव समझने हेतु तरीका - ब्लाग लिखने का. नामक इस पोस्ट को भी एक बार अवश्य पढें । निश्चय ही इसमें प्रस्तुत सुझाव आपका पर्याप्त मार्गदर्शन कर सकेंगे ।

5. जागरुकता बनाये रखने के लिये अपने ब्लाग पर काउन्टर मीटर लगावें-
           अपने ब्लाग पर पाठकों की आवाजाही पर नजर रखने के लिये काउन्टर मीटर अवश्य लगावें और हर अगले महिने में पिछले महिने से अधिक पाठक आपके ब्लाग पर आ सकें ऐसा अपना लक्ष्य अपनी नियमित सक्रियता के द्वारा बनाये रखने का प्रयास करें । काउन्टर मीटर की गैर मौजूदगी में अपने डेशबोर्ड पर 'आंकडे' कालम पर नियमित अंतराल पर नजर रखते रहें ।
   
           यदि आप उपरोक्त तरीकों को अमल में लाते रहेंगे तो निश्चय ही आप अपने ब्लाग को लोकप्रियता की दौड में न सिर्फ आगे बनाये रख सकने में सफल हो सकेंगे बल्कि इससे उपजी संतुष्टि जो आप महसूस करेंगे उसका पूर्व अवलोकन करने हेतु आप इस लिंक को क्लिक करके ब्लाग-जगत की ये विकास-यात्रा... लेख भी अवश्य पढें ।

         जैसे व्यापार जगत में अपना माल बेचते रहने के लिये पुराने लोगों का एक मुहावरा सुनने में आता रहता है कि "दिखेगा तो बिकेगा",  बडी-बडी कम्पनियां भी इसी सिद्धान्त के तहत लाखों करोडों रुपये विज्ञापन में लगाकर टी.वी., रेडियो, समाचार-पत्र आदि माध्यमों में स्वयं के उत्पादों को दिखाती रहती हैं और सफलता के पथ पर आगे की ओर बढते रहती हैं वैसे ही आप भी इस ब्लाग-जगत में  विभिन्न एग्रीगेटर्स में, सर्च इंजिन में, समर्थक (फालोअर्स) सूचि में,  टिप्पणी बाक्स में और नियमित अंतराल में अपने ब्लाग्स पर नये-नये लेखों के द्वारा दिखते रहने के क्रम में बने रहकर 'शून्य से शिखर तक की' अपनी इस ब्लाग-यात्रा में सफलता की ओर निरन्तर आगे बढते रह सकते हैं । 


88 टिप्पणियाँ:

Shah Nawaz ने कहा…

बहुत ही बेहतरीन बातें बताई आपने... लग्न और जानकारी के साथ पूरी म्हणत से किया गया प्रयास सफल अवश्य होता है. ब्लॉग जगत के बारें में अधिक से अधिक जानकारियाँ लोगो तक पहुंचाने की आवस्यकता है.... आपने इस ओर बहुत ही बेहतरीन काम किया है... बहुत-बहुत धन्यवाद!

संजय भास्कर ने कहा…

आदरणीय सुशील बाकलीवाल जी
नमस्कार !
ब्लॉग जगत के बारें में अधिक से अधिक जानकारियाँ लोगो तक पहुंचाने की आवस्यकता है.... आपने इस ओर बहुत ही बेहतरीन काम किया है... बहुत-बहुत धन्यवाद!

Udan Tashtari ने कहा…

पूरी लगन से लगे रहें..अच्छा लिखें, अच्छा पढ़ें..लोगों को प्रोत्साहित करें..बाकी सिलसिला बन जायेगा.

कविता रावत ने कहा…

bahut achhi upyogi jaankari sab tak pahuchane ke liye aabhar..
aapka yah prayas sarhaniya aur anukarniya hai..

सतीश सक्सेना ने कहा…

उपयोगी लेख के लिए आपका आभार सुशील भाई !

सलीम ख़ान ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
सलीम ख़ान ने कहा…

जनाब सुशील जी, आपके ब्लॉग पर प्रथम बार आया.

आपके सुझाव यक़ीनन बहुत उम्दा हैं और इन पर मैं ज़रूर अमल में लाने की कोशिश करूँगा. उम्र में आपसे छोटा हूँ पर ब्लॉग-जगत में आपसे बड़ा. लेकिन फिर भी यक़ीनन भाषा ज्ञान और व्याकरण अथवा शब्दों पर आपकी पकड़ मुझसे ज़्यादा है, ऐसा मैं जानता हूँ.

लेकिन आपने अपने ब्लॉग का नाम ही ग़लत लिखा है:
यह नजरिया नहीं है 'नज़रिया' है.

अंग्रेजी में भी आपने najariya लिखा है जबकि nazariya होना चाहिए.

प्लीज़ वर्तनी सुधारिए वरना हिन्दी भाषा की सगी बहन उर्दू की तौहीन कर रहे हैं आप !

आपका पुत्र-समान
सलीम ख़ान

Patali-The-Village ने कहा…

उपयोगी लेख के लिए आपका आभार|

सुशील बाकलीवाल ने कहा…

* श्री शाह नवाजजी,
धन्यवाद आपको मेरे प्रयास की सराहना करने के लिये, आभार...

* श्री संजय भास्करजी,
कोशिश यही है कि नये लेखक जानकारी के अभाव में न रुक पाएँ, आभार आपका समर्थन के लिये...

* श्री समीरलालजी 'समीर' सरजी,
आपका प्रोत्साहन सदैव आवश्यक है । बाकि तो 'कर भला तो हो भला' वाली कोशिश है ही । धन्यवाद सहित...

* सुश्री कविता रावतजी,
आभार आपका मेरे इस प्रयास की सराहना करने के लिये, धन्यवाद सहित...

* भाई श्री सतीश सक्सेनाजी,
आपको धन्यवाद, यद्यपि शब्दों में ये आपके लिये बहुत कम है.

* श्री सलीम खान साहब,
आपके इस ब्लाग पर प्रथम आगमन हेतु स्वागत...
नजरिया टाईटल पर आपके सुझाव सही हैं किन्तु की बोर्ड की अपनी सीमाएँ हैं । मैं इस पर आज तक (ॅ) डा. वाले इस चन्द्राकार को टाईप नहीं कर पाया फिर 'ज' के नीचे उर्दू वाला बिंदू कहाँ से खोजूं । ऐसे ही अंग्रेजी में रजिस्ट्रेशन मेरे हाथ में नहीं था । उर्दू की तौहीन मैं क्यों करुंगा जबकि मेरी स्वयं ये कोशिश रहती है कि व्याकरण से सम्बन्धित गलती ना हो । इसे तो आप 'समझौता कमियों से करलो' वाली मजबूरी ही समझिये । धन्यवाद...

Learn By Watch ने कहा…

अच्छी जानकारी दी है आपने बहुत ही अच्छा

निर्मला कपिला ने कहा…

बहुत उपयोगी आलेख है। इस जानकारी के लिये धन्यवाद। गूगल मेरी पोस्ट नही उठा रहा उसके लिये क्या करूँ? धन्यवाद।

mukes agrawal ने कहा…

बहुत उपयोगी आलेख है। इस जानकारी के लिये धन्यवाद।

चैतन्य शर्मा ने कहा…

उपयोगी आलेख ...बहुत-बहुत धन्यवाद

वन्दना ने कहा…

उपयोगी लेख के लिए आपका आभार|

: केवल राम : ने कहा…

सही दिशा देने का सही प्रयास

Rajey Sha ने कहा…

एक सुझाव ये भी * टाईमपास के लि‍ये ब्‍लॉगि‍न्‍ग ना करें।

Er. सत्यम शिवम ने कहा…

बहुत ही सही जानकारी.........

ZEAL ने कहा…

बड़े काम कि जानकारी दी आपने । निसंदेह ब्लोगर्स का हित है इसमें

डॉ टी एस दराल ने कहा…

अच्छे नुश्खे दिए हैं । अब ब्लोगिंग में भी देश की आबादी की तरह पोपुलेशन एक्सप्लोजन हो सकता है ।

Er. सत्यम शिवम ने कहा…

आपकी उम्दा प्रस्तुति कल शनिवार (19.02.2011) को "चर्चा मंच" पर प्रस्तुत की गयी है।आप आये और आकर अपने विचारों से हमे अवगत कराये......"ॐ साई राम" at http://charchamanch.uchcharan.com/
चर्चाकार:Er. सत्यम शिवम (शनिवासरीय चर्चा)

एस.एम.मासूम ने कहा…

हमेशा की तरह अच्छी जानकारी

krati ने कहा…

namaste sir,
aapne apne blog par jo jankariyan di hain vo tarif ke chand shabdon se pare hai, lihaza unhe shabdin main bandhkar, aap jese senior ko ankne ki bhool nahi karna chahati. aap lese logon ke hi padchinhon par chalte hue maine bhi haal hi main apna blog likana shuroo kiya hai. journalistkrati.blogspot.com aapse ye guzarish hai ki please mera blog dekhkar use aur bhi behetar banane ke sujhav de, taki apke pariwaar ke mujh jese naya sadasyun ka josh badh sake.
sadar namaskaar.

sumitsmarty ने कहा…

धन्यवाद सुशीलजी ब्लॉगजगत की बारिकियों से रूबरू कराने का है।
यह
ज्ञानवर्धक लेख हम जैसे नवब्लॉगरों का मार्गदर्शन करेगी। धन्यवाद।

Atul Shrivastava ने कहा…

अच्‍छी जानकारी के साथ मार्गदर्शन करती पोस्‍ट। आपका आभार और बधाई।

संतोष कुमार ने कहा…

सुशील जी,
आपका ब्लॉग पढने के बाद काफी कुछ जानने का अवसर मिला. कई उपयोगी टिप्स भी मिले. अगर कोई ब्लॉगर इन टिप्स को अपनाये तो वह निसंदेह सफल होगा.

आपका आभार और बधाई इस सहयोग के लिए .

राकेश सोनी ने कहा…

सुशील बाकलीबल जी नमस्कार ब्लॉग जगत के बारे में उपयोगी जानकारी देने के लिए साधुवाद आपकी जानकारी पढ़कर कोई भी पाठक ब्लॉग पर अपनी अच्छी पकढ़ बनाये रख सकता हे
thanks

Meet..... ने कहा…

आपका ये लेख निश्चित रुप से श्री ब्लॉगचरित मानस कहना चाहिये । लिंक के माध्यम से उसे एकदम जीवंत बना दिया है आपने । ह्दय की अंतरतम गहराइयों से साधुवाद ।

वैसे यूनिकोड में टाईप करने वालों के लियें तो नज़रिया या डॉक्टर लिखना ज़ियादा मुश्किल नहीं है ।

कभी-कभी अपने ब्लॉग को देखतां हूं तो हीन भावना से ग्रसित हो जाता हूं ।

काफी कुछ वैसे ही जैसे
ऐबे कुरुविला, या अविष्कार साल्वी या फिर अतुल बेडाडे महसूस करते होगें क्रिकेट के लिहाज से.......। खैर..........

sandhya ने कहा…

सुशील जी,
बड़े काम की जानकारी दी आपने, मार्गदर्शन करती पोस्‍ट। आपका आभार और बधाई।

Hindi Sahitya ने कहा…

बहुत अच्छा और उपयोगी पोस्ट.

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ ने कहा…

सचमुच उपयोगी सुझाव हैं। आभार।

---------
ब्‍लॉगवाणी: ब्‍लॉग समीक्षा का एक विनम्र प्रयास।

सुरेन्द्र सिंह " झंझट " ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
सुरेन्द्र सिंह " झंझट " ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
सुरेन्द्र सिंह " झंझट " ने कहा…

आदरणीय सुशील जी ,
उपयोगी जानकारियों से परिपूर्ण , ब्लागर्स के लिए रामबाण, मार्गदर्शक लेख के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद !

संजीव तिवारी .. Sanjeeva Tiwari ने कहा…

राम-राम

सभी ब्‍लॉगर्स के लिए उपयोगी.

Dr (Miss) Sharad Singh ने कहा…

जानकारी भरी पोस्ट के लिये आभार।

krati ने कहा…

नमस्ते सर ,
आपने अपने ब्लॉग पर जो जानकारियां दी हैं वो तारीफ के चाँद शब्दों से परे है , लिहाज़ा उन्हें शब्दों मैं बंधकर , आप जैसे सेनिअर को आंकने की भूल नहीं करना चाहती . आप जैसे लोगों के ही पदचिन्हों पर चलते हुए मैंने भी हाल ही में अपना ब्लॉग लिखना शुरू किया था, पर आपके द्वारा दिए गए सुझावों का पालन करने के बाद ही मुझे मेरे काम का फल दिखने लगा | लोग मेरे ब्लॉग को पढ़ कर उसपर प्रतिक्रियाएं देने लगे हैं और फ़ॉलो भी करने लगे हैं| journalistkrati.blogspot.com नाम के मेरे ब्लॉग के लिए आपसे गुज़ारिश है की मेरा ब्लॉग देखकर उसे और भी बहेतर बनाने के सुझाव दे, ताकि आपके परिवार के मुझ जैसे नए सदस्यों का जोश बढ़ सके .
सादर नमस्कार .

mahendra verma ने कहा…

अपने किस्म का पहला महत्वपूर्ण आलेख है यह।
सार्थक और उपयोगी जानकारी के लिए आभार।

दिगम्बर नासवा ने कहा…

आपके आलेख में कई जानकारियाँ उपलब्ध हैं .... नए ही नहीं पुराने ब्लोगेर्स को भी फायदा हो सकता है ...

शिवकुमार ( शिवा) ने कहा…

बहुत उपयोगी आलेख है। इस जानकारी के लिये धन्यवाद।

Praveen Dubey ने कहा…

जानकारी के लिये धन्यवाद..

यादें ने कहा…

सुशील जी, राम -राम |
आप के सुझावों के लिए बहुत बहुत धन्यवाद !
ये मेरे जैसे अनपड़ नए ब्लोगेर के लिए बहुत काम आयेगा |
आप कि जमात मैं बिल्कुल अनाड़ी हूँ | पर वादा करता हूँ ,कोशिश पूरी ईमानदारी से करूँगा |

PUNEET ने कहा…

राम-राम सुशील जी, मेरे ब्लॅाग में रुची दिखाने के लिए धन्यवाद..........

Dimps ने कहा…

Sushil ji,

Aapne bahut achhi baatein suggest ki hain saare blog jagat ke logo ko... Dhanyawad :)

Waise, mere blog pe aana ka aur hausla badaane ka shukriya... Aur main blogging mein kaafi time se hu... bus English mein likhti hu zaadatar aur ab hindi mein likhna shuru kia hai...

http://poemshub.blogspot.com/

Yeh mera main blog hai... :)

Thanks a lot for your visit!

Regards,
Dimple

manish ने कहा…

aapke bateye gaye sujhaon ko apne blogs me upyog karunga. aap ham yuvaon ke liye maulik rachana kareinge aur hame un rachnaon se kaphi kuchh sikhane ko milega, isi aasha ke saath. manish pathak

pravesh bisht ने कहा…

mahoday ji namaskar, aamantrit karne or sarahana karne ke liye aabhar..

rajesh chandrakar ने कहा…

इतनी अच्छी जानकारी का लिंक देने के लिए आप मेरे ब्लॉग में आये आपका धन्यवाद :-)

छत्तीसगढ़ के लोकगीत लोकगाथाओं से झूम उठने के लिए छत्तीसगढ़ी गीत संगी http://cgsongs.wordpress.com पर आपका स्वागत है...

सम्पजन्य ने कहा…

सर ....
आपकी हौसला अफजाई वाकई बहुत कारगर रही ....
मैंने पूरी बात पढ़ी और समझी ......
आपकी सदाशयता अनुकरणीय है दुर्लभ है
आगे बढकर मार्गदर्शन मिला ...
धन्वाद ...

rudra bhanu ने कहा…

aapne jo sujhaw diya hai wo wastaw me naya blogars ke lie pathpradarshak ke saman hai. mai isaka upayog kar raha hun.

Rahul Yadav ने कहा…

उपयोगी जानकारी के लिए धन्यवाद सर....

anurag anant ने कहा…

sir you have suggested wanderfull ideas to prmote ones blog , at last iwant to say you ,maja aa gaya sir , no word ti explain that how important article it was

anurag anant ने कहा…

it was amezing

जिन्दगी और बता तेरा इरादा क्या है ने कहा…

इतना अच्छा मार्ग दर्शन देने के लिए आपका बहुत बहुत शुक्रिया...

Vivekanand Pandey ने कहा…

shukriya....

ghazalganga ने कहा…

कीमती जानकारी के लिये आभार!..... आपके साईट पर पहले ही आना था. खैर! देर आयद..दुरुस्त आयद...
देवेन्द्र गौतम

Ashish ने कहा…

आदरणीय श्री सुशील बाकलीवाल जी इस महत्वपूर्ण सुझाव के लिए आपका हृदय से धन्यवाद।

सुशील बाकलीवाल ने कहा…

नये ब्लाग लेखकों के लिये उपयोगी सुझाव.

देवेन्द्र ने कहा…

प्रिय सुशील जी इतनी उपयोगी सूचना देने हेतु हार्दिक धन्यवाद । यह सूचना मेरे जैसे नये ब्लॉग लेखक हेतु अति उपयोगी है । पुनः हार्दिक धन्यवाद ।

Bhartiya ने कहा…

Thanks for such useful information.

Bhartiya ने कहा…

Thanks for such a useful information. I have started blogging to make a chain of people those are doing priceless social work to improve India in any field and any manner, a small tree planteation will count . my blog is http://swayamfornation.blogspot.com/ Please visit and give some tips thanks.

नेहा ने कहा…

aap ke sujhawo par amal kiya jayega sir

Daddu ने कहा…

सुशील जी इतनी उपयोगी सूचना देने हेतु हार्दिक धन्यवाद । यह सूचना मेरे जैसे नये ब्लॉग लेखक हेतु अति उपयोगी है । पुनः हार्दिक धन्यवाद...

BARATHJI ने कहा…

आदरनीय सुशीलजी सादर नमस्कार !
आपने मेरा ब्लॉग देखा और उस पर अपने ब्लॉग का भी युआरएल दिया, आपका धन्यवाद.
मैंने आपका ब्लॉग नए लेखको के लिए था, को पढ़ा और आपका धन्यवाद जो मुझ जैसे छोटे भाई को नेक सलाह दी. इन जानकारियों के लिए आपको साधुवाद और मैंने मेरा नया पोस्ट भी दिया है कृपया टिप्पणी दे, ताकि आगे की रह बन सके. पुन: धन्यवाद.
मनोज चारण.
barthjibabosa.blogspot.com
mkcharan11@gmail.com

aparna ने कहा…

itni upyogi jaankari ke liye aapka bahut bahut dhanyawad aur aabhaar!

Dwarka Baheti 'Dwarkesh' ने कहा…

सुशीलजी,
मेरे 'ब्लॉग' पर आने के लिए धन्यवाद.आपके सुझाव उपयोगी व अनुकरणीय हैं....बहुत-बहुत धन्यवाद.

डॉ. नूतन डिमरी गैरोला- नीति ने कहा…

सुशील जी ! बधाई हो .. लेख के अनुसार भी और अच्छी रचनाओं की पठन सामग्री मिलती रहे मैंने आपका ब्लॉग फोलो किया ... और इस तरह से मैं २०० नंबर की फोलोवर हूँ ,, बधाई आपको .. आपने १०० का आंकड़े से २०० के आंकडे मे आये.. और मुझे भी बधाई की मैं इतने सुन्दर ब्लॉग मे आ पाई ... और इसकी पाठक बनी... सादर .. होली पर शुभकामना ..

devanshukashyap ने कहा…

मेरे गूगल ब्लॉग पर आपकी टिप्पणियों का अभिनंदन है | कृपया वहाँ पधारकर अनुगृहीत करें |
धन्यवाद |

Dastan-E- Sahil ने कहा…

Dhanyawaad aapki visit aur aapke sujhawon ke liye.

Divya Sandesh ने कहा…

ब्लॉग देखकर उसे और भी बहेतर बनाने के सुझाव

Divya Sandesh ने कहा…

ब्लॉग देखकर उसे और भी बहेतर बनाने के सुझाव.

vishwajeetsingh ने कहा…

आदरणीय श्री सुशील बाकलीवाल जी सादर वन्दे
ब्लॉग जगत के बारे मेँ अधिक से अधिक जानकारियाँ लोगोँ तक पहुँचाने की आवश्यकता हैँ । आपके द्वारा दी गई जानकारियाँ नए लेखकोँ के साथ - साथ पुराने ब्लॉग लेखकोँ के बहुत काम आने वाली हैँ , हार्दिक धन्यवाद ।
www.satyasamvad.blogspot.com
www.vishwajeetsingh1008.blogspot.com

Atish kumar ने कहा…

सुशील वाकलीवाल जी, सबसे पहले मेरे ब्लॉग http://aaa30kumar.blogspot.com/ पर आने के लिये,और सुन्दर सुझाव के लिये धन्यबाद। आपके निमंत्रन पर हम आपके ब्लॉग पर आए हैं। आकर बहुत खुशी हुई।मै आपका फॉलोअर बन गया हुँ।

dusara pahaloo ने कहा…

sujhava de liye dhanuawad.

Ritesh Tewari ने कहा…

धन्यवाद सुशील जी, आप मेरे ब्लॉग में आये एवं अपनी पोस्ट पढने के लिए कहा. आपके सुझाव बेहतरीन हैं, शौकिया तौर पर मैं ब्लॉग लिखता हूँ, पर अब शायद गंभीरता से इसे लूँगा. पुनः आपका धन्यवाद!

Ritesh Tewari ने कहा…

धन्यवाद सुशील जी, आप मेरे ब्लॉग में आये एवं अपनी पोस्ट पढने के लिए कहा. आपके सुझाव बेहतरीन हैं, शौकिया तौर पर मैं ब्लॉग लिखता हूँ, पर अब शायद गंभीरता से इसे लूँगा. पुनः आपका धन्यवाद!

surendrashuklabhramar ने कहा…

सम्माननीय सुशील जी आप मेरे ब्लॉग पर आये आप का नए लेखकों के लिए सुझाव बेहतरीन है ढेर सारी शुभकामनायें आप प्रगति के चरम सीमा तक जाएँ नजरिया बहुत रोचक व् सराहनीय है
सुरेन्द्र कुमार शुक्ल भ्रमर ५
भ्रमर का दर्द और दर्पण सहित कृपया आप मेरे ३ ब्लॉग में समर्थन दें

हेमंत कुमार ♠ Hemant Kumar ने कहा…

आपने ब्लागिंग के क्षेत्र में नये आने वालों के लिये सचमुच बहुत उपयोगी सुझाव दिये हैं। हार्दिक शुभकामनायें।

Blog Insect ने कहा…

Very nice stuff.....
thanks

Araria Time

Blog Insect ने कहा…

Wow nice blog........
<a href="http://arariatimes.blogspot.com/>Aaaria Bihar</a>

blogtaknik ने कहा…

हिंदी के कुछ सब्द लिखना वास्तव में मुस्किल होते हे इसके लिए आप इस साईट से मदत लेकर हिंदी के मुस्किल वाक्य भी लिख सकते हे http://labs.google.co.in/keyboards/hindi.html इसको आप igoogle.com में जाकर सेट कर सकते हे.

saksham diwedi ने कहा…

dhnywaad jo apne mere blog ka awlokan kiya.

जयकृष्ण राय तुषार ने कहा…

आदरणीय भाई सुशील बाकलीवाल जी सादर नमस्कार |आप मुझसे अनुभवी हैं आपकी दूसरी बार दी गयी सलाह पर आज मैंने आपको फालो किया है |आप अच्छे ब्लागर हैं |लेकिन जो सलाह आपने दी है वह शत -प्रतिशत सत्य नहीं है |मैंने शुरू में कई लोगों को फालो किया और कई पर कमेंट्स किया लेकिन कुछ ने न तो फालो किया न ही कमेंट्स किया जबकी स्तरहीन ब्लॉगों पर भी उनकी उपस्थिति रहती है |कई मुझसे कमेंट्स की उम्मीद करते हैं लेकिन खुद नहीं करते |कुछ ही दिनों में मुझे यह सब समझ में आ गया बहरहाल असली मान्यता तो साहित्य से मिलती है |आप इसे मेरा अहंकार न समझें |ब्लॉग पर निराला की कविता को दो चार कमेंट्स मिलेंगे जबकि स्तरहीन कविता पर सत्तर कमेंट्स भी मिल सकते हैं इससे ब्लागिंग के स्तर का पता चलता है |

Madan Gopal Garga ने कहा…

apke blog par a kar achchha laga kirpya mere blog par visit kare
http://ichchaapurtimandir.blogspot.com/
thanks

Geetsangeet ने कहा…

उपयोगी सुझाव हैं. इन पर इमानदारी से अमल करने वाले का ब्लॉग
ज़रूर ही लोकप्रिय ब्लॉग की सूची में शामिल हो जायेगा.

Mani Singh ने कहा…

आपके द्वारा दिया गया मार्गदर्शन से हम नए ब्लोग्गर्स को काफी सहयता मिलती है अत : आपका तहे दिल से धन्यवाद !

मैं और मेरा परिवेश ने कहा…

आपके सुझाव बहुत अच्छे हैं मैंने इन पर अमल करना शुरू कर दिया है। आप नये ब्लाग लेखकों को आगे बढ़ा रहे हैं इसके लिए आपके प्रति हार्दिक आभार

Puneet ने कहा…

बहुत धन्यवाद :)

Suresh Tamrakar ने कहा…

ब्लाग को लोकप्रिय बनाने के लिए आपने जो टिप्स दिए वह काबिले तारीफ है।

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

शायद आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा आज बुधवार के चर्चा मंच पर भी हो!
सूचनार्थ

एक टिप्पणी भेजें

आपकी अमूल्य प्रतिक्रियाओं के लिये धन्यवाद...

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...