28.12.10

बचके रहना रे बाबा बचके रहना रे...

      
        इन दिनों समाचार-पत्रों में एक विज्ञापन की बाढ सी आई हुई दिख रही है । बानगी देखिये-

              सभी कम्पनियों के टावर अपनी दुकान, 
                मकान, प्लाट, खेत, खाली जमीन पर 
                लगवाएँ । 40,00,000/- रु. एडवांस, 
                40,000/- रु. प्रतिमाह किराया और 
                15,000/- रु. प्रतिमाह नौकरी स्थायी 
                रुप से पाएं. 15 साल के पक्के एग्रीमेन्ट 
                 के साथ.  सम्पर्क करें- 
                मोबाईल नं. 00000000000,  00000000000.

        2-4 नहीं 16 विज्ञापन तो आज के प्रतिष्ठित समाचार पत्र नईदुनिया में ही देखे जा सकते हैं ।

        एडवांस की रकम जो इस विज्ञापन में 40 लाख रु. दिख रही है वह अलग-अलग विज्ञापनों में 19 लाख रु. से लगाकर 75 लाख रु. तक के आफर के रुप में, मासिक किराया 35 हजार से लगाकर 70 हजार रु. प्रतिमाह, स्थायी नौकरी का आफर 10 हजार से लगाकर 20 हजार रु. प्रतिमाह व पक्का एग्रीमेन्ट 10 वर्ष से लगाकर 20 वर्ष तक सभी विज्ञापनों में अलग-अलग दिखाई दे रहे हैं ।

        एक विज्ञापन जो डोकोमो नेटवर्क सेटेलाईट के नाम से छप रहा है वो लिखता है धोखेबाजों से सावधान. सीधे कम्पनी से सम्पर्क करें.

        ज्ञानवर्द्धन के नाम पर जब इनके दिये गये मोबाईल नंबरों पर फोन किया गया तो लेडी रिशेप्सनिस्ट से उत्तर मिला कि हमारे दिये हुए बैंक A/c. में आप 4,250/- रु. जमा करवा दें व उसकी स्लिप नं. हमें बतादें । हमारे प्रतिनिधि आकर आपका स्पाट चेक कर लेंगे और अप्रूव हो जाने पर आपसे अनुबन्ध करके इस एडवांस राशि का चेक आपको चुकाते हुए टावर लगाने की कार्यवाही पूरी करदी जावेगी । जब उनसे यह पूछा गया कि यदि स्पाट अप्रूव नहीं हो पाया तो हमारे 4250/- रु. का क्या होगा ? तो उनका उत्तर था कि 4,000/- रु. आपको वापस मिल जाएंगे ।

        दूसरा फोन जो डोकोमो नेटवर्क सेटेलाईट के नाम पर लगाया गया तो उनका भी वही उत्तर था कि आप 4,250/- रु. कंपनी के मेनेजिंग डायरेक्टर श्री प्रभुदयाल के नाम से फलां-फलां बैंक में जमा करवा दें,  हमारे प्रतिनिधि आएंगे..............

        जब उनसे कहा गया कि हम कंपनी से अनुबंध कर रहे हैं तो पैसा भी कंपनी के नाम पर ही क्यों न जमा करवाएँ तो उनका उत्तर था कि नहीं साहब कंपनी की पालिसी के मुताबिक पैसा तो आपको मेनेजिंग डायरेक्टर के नाम पर ही जमा करवाना होगा । हमारे यह पूछने पर कि आप कहाँ से बोल रहे हैं ? उत्तर मिला- चंडीगढ से.

        अब हम इनका सारा गणित समझलें-  यदि इतने बडे देश में इस किस्म के लाखों रु. डिपाजिट, हजारों रु. प्रतिमाह का किराया और हजारों रु. प्रतिमाह की बिना काम या योग्यता की नौकरी का लालच दिखाते हुए सिर्फ 4,250/- रु. की मामूली सी धनराशि दिन भर में 100 लोगों से भी जमा करवाली तो 4 लाख रु. से अधिक का धन बैठे-बिठाये बैंक में जमा हो गया । बदले में आपको कुछ भी न मिले तो भी सिर्फ इस मोबाईल नं. और बैंक A/c. नं. के आधार पर आप कहाँ कहाँ भटक लेंगे । यदि मानलें कि इनका बताया शहर चंडीगढ सही भी है तो आने-जाने में ही इतने पैसे तो खर्च ही हो जाना है, फिर भी इनसे सम्पर्क और आपकी अग्रिम राशि की वसूली आप कर लावें ऐसी कोई सम्भावना दिख पाती है क्या ?

        इसलिये ऐसे किसी भी प्रस्ताव को आप या आपका कोई निकटतम मित्र या परिजन स्वीकार कर पाने की स्थिति में यदि हों भी तो किन पूर्व सावधानियों की आवश्यकता हो सकती है यह आप अवश्य देखलें ।

13 टिप्पणियाँ:

वन्दना ने कहा…

आजकल ऐसे ही फ़्राड किया जाता है।

हर्षवर्धन वर्मा. ने कहा…

आगाह करने के लिए शुक्रिया.

Patali-The-Village ने कहा…

आप ने सही लिखा है आज कल इस तरह की जाल साजी बहुत चल रही है|

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

बिलकुल सही लिखा है ....हमारे परिचित इसका शिकार हो चुके हैं ..

सावधानी में समझदारी है

मनोज कुमार ने कहा…

आंखे खोलने वाली पोस्ट। आभार इस प्रास्तुति के लिए।

वीना ने कहा…

बिल्कुल ठीक कहा है आपने....

'उदय' ने कहा…

... gambheer samasyaa ... log loot-paat ke naye naye upaay talaash rahe hain !!!

mahendra verma ने कहा…

पहले से ही सजग करने के लिए आपका आभार।
ऐसे प्रस्तावों से बचकर रहेंगे।

संजय भास्कर ने कहा…

बिल्कुल ठीक कहा है आपने.

आपको और आपके परिवार को मेरी और से नव वर्ष की बहुत शुभकामनाये ......

वन्दना ने कहा…

आपकी अति उत्तम रचना कल के साप्ताहिक चर्चा मंच पर सुशोभित हो रही है । कल (3-1-20211) के चर्चा मंच पर आकर अपने विचारों से अवगत कराइयेगा और हमारा हौसला बढाइयेगा।

http://charchamanch.uchcharan.com

खबरों की दुनियाँ ने कहा…

लालच से बचने और सजग रहने की जरुरत है - यह हमको सदियों से समझाया जा रहा है । अच्छी पोस्ट , शुभकामनाएं । "खबरों की दुनियाँ"

फ़िरदौस ख़ान ने कहा…

सार्थक आलेख...
नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं...

Er. सत्यम शिवम ने कहा…

बहुत ही सुंदर............
नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाए...
*काव्य- कल्पना*:- दर्पण से परिचय
*गद्य-सर्जना*:-जीवन की परिभाषा…..( आत्मदर्शन)

एक टिप्पणी भेजें

आपकी अमूल्य प्रतिक्रियाओं के लिये धन्यवाद...

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...